FANDOM


सम्पूर्ण रिज़ोल्यूशन (डाउनलोड)‎ ((५३९ × ५६५ चित्रतत्व, संचिका का आकार: ४२ KB, माइम प्रकार: image/jpeg))

DescriptionEdit

नवगीत के प्रवर्तक , उसके नाम-लक्षण-निरुपक प्रथम ऐतिहासिक संकलन 'गीतांगिनी' (1958) के सम्पादक तथा  'आओ खुली बयार', 'रात आँख मूँद कर जगी, 'भरी सड़क पर'(नवगीत संग्रह) एवं 'गज़र आधी रात का','लाल नील धारा' (जनगीत संग्रह) के रचनाकार कवि राजेन्द्र प्रसाद सिंह (12जुलाई, 1930 - 8 नवम्बर ,2007, मुजफ्फरपुर,बिहार ) का हिन्दी कविता (भूमिका,मादिनी,दिग्वधू,संजीवन कहाँ,डायरी के जन्मदिन,,उजली कसौटी,शब्दयात्रा,प्रस्थान बिंदु  आदि कविता संग्रह) और साहित्यालोचन (जनवादी लेखन एवं रचानास्थिति,साहित्य की पारिस्थिकी, भारतीय संगीत का समाजशास्त्रीय सन्दर्भ आदि ग्रन्थ) के क्षेत्र में अप्रतिम योगदान है. उनकी आरिभिक कवितायेँ एवं गीत अज्ञेय द्वारा संपादित सुप्रसिद्ध प्रकृति-काव्य संकलन 'रूपाम्बरा' के साथ ही धर्मवीर भारती के सम्पादन में प्रकाशित 'निकष' प्रकाशित है. राजेन्द्र प्रसाद सिंह का हिन्दी के आलावा बांग्ला, संस्कृत , अंग्रजी आदि भाषाओं पर भी असाधारण अधिकार था और वे इन भाषाओं में रचित साहित्य के गहरे पारखी विद्वान थे. राजेन्द्र जी की बहुत सी रचनाएं पत्र-पत्रिकाओं में बिखरी पडी है, जिन्हें हिन्दी जगत के सामने लाने का हम सबको प्रयास करना चाहिए.













Enter the description here.

संचिका का इतिहास

संचिका पुराने समय में कैसी दिखती थी यह जानने के लिए वांछित दिनांक/समय पर चटका लगाएँ।

दिनांक/समयअँगूठाकार प्रारूपआकारसदस्यटिप्पणी
सद्य११:५४, सितंबर १५, २०१५११:५४, सितंबर १५, २०१५ के समय के संस्करण का अँगूठाकार प्रारूप।५३९ × ५६५ (४२ KB)Professor Ravi Ranjan (वार्ता | योगदान)

मेटाडाटा

Ad blocker interference detected!


Wikia is a free-to-use site that makes money from advertising. We have a modified experience for viewers using ad blockers

Wikia is not accessible if you’ve made further modifications. Remove the custom ad blocker rule(s) and the page will load as expected.