FANDOM


1- परि‍चय

डा0 गोपाल कृष्‍ण भट्ट ‘आकुल’, जन्‍म ति‍थि‍- 18 जून 1955, जन्‍म स्‍थान- महापुरा, जयपुर (राजस्‍थान) ।

Safe image

गोपाल कृष्‍ण भट्ट 'आकुल'

शि‍क्षा- एम0 कॉम0, डी0टी0पी0 पाठ्यक्रम साहित्यिक उपाधि-  विद्या वाचस्‍पति

भाषा की जानकारी- हि‍न्‍दी, गुजराती, ब्रजभाषा, अंग्रेजी।

साहि‍त्‍यि‍क यात्रा- 1975 से विभि‍न्‍न पत्र पत्रि‍काओं यथा नन्‍दन, बालभारती, चम्‍पक, रंगायन, योजना आदि‍ में बाल पहेलि‍याँ, कहानी, कवि‍तायें, नाटक, लेख आदि‍ प्रकाशि‍त। 1993 से 2008 तक उ0 प्र0  के अग्रणी समाचार पत्र आगरा से ‘अमर उजाला’ में वर्गपहेली स्‍तम्‍भ में दैनि‍क वर्ग पहेली, आगरा के ही ‘अकिंचन भारत’, म0प्र0 भोपाल के नवभारत, अंग्रेजी सांध्‍य दैनि‍क ‘क्रोनि‍कल’ और गुजरात के सर्वप्रथम हि‍न्‍दी दैनि‍क ‘गुजरात वैभव’ में, न्‍यूज टुडे (राजस्‍थान पत्रिका समाचार पत्र का सांध्‍य दैनिक, जयपुर) से लगभग 1-1/2 वर्ष तक दैनि‍क हि‍न्‍दी वर्ग पहेली का प्रकाशन। अब तक 6000 से अधि‍क हि‍न्‍दी और 400 अंग्रेजी वर्ग पहेली का प्रकाशन। वर्तमान में ई पत्रि‍का ‘अभि‍व्‍यक्‍ति‍’ (abhivyakti-hindi.org) में वर्गपहेली का नि‍रंतर प्रकाशन। </p> <p class="MsoNormal" style="margin-top:0cm;margin-right:0cm;margin-bottom:0cm; margin-left:36.0pt;margin-bottom:.0001pt;text-align:justify;line-height:normal">प्रकाशन- ई पत्रि‍कायें अनुभूति‍, अभि‍व्‍यक्‍ति‍, हि‍न्‍दयुग्‍म, नवगीत की पाठशाला, मुक्‍तक लोक, हि‍न्‍दी गौरव, अन्‍य सामयिक पत्र पत्रिकायें यथा शि‍वम्, दृष्‍टि‍कोण, गोलकोण्‍डा दर्पण, मेकल सुता, शब्‍द प्रवाह, संयोग साहित्‍य आदि‍ देश की अनेकों पत्र पत्रि‍कओं में कवि‍तायें, लघु कथायें, आलेख, कहानी आदि‍ प्रकाशि‍त। </p> <p class="MsoNormal" style="margin-top:0cm;margin-right:0cm;margin-bottom:0cm; margin-left:36.0pt;margin-bottom:.0001pt;text-align:justify;line-height:normal">कृति‍याँ- (6 पुस्‍तकें, 5 प्रमुख संकलन सहित 10 से अधिक साझा संकलन) (अ) पुस्‍तकें- 1- प्रति‍ज्ञा (महाभारत की पृष्‍ठभूमि‍ पर एक महानायक पात्र ‘कर्ण’ पर आधारि‍त) नाटक (1995), प्रकाशक- लेखक स्‍वयं 2- पत्‍थरों का शहर (हि‍न्‍दी-उर्दू गीत ग़ज़ल और नज्‍़में) (2008), प्रकाशक, जनवादी लेखक संघ, कोटा; 3- जीवन की गूँज (काव्‍य संग्रह) (2010) प्रकाशक- लेखक स्‍वयं 4- अब रामराज्‍य आएगा !! (लघुकथा संग्रह) (2013) प्रकाशक- फ्रेण्‍ड्स हेल्‍पलाइन प्रकाशन, कोटा 5- नवभारत का स्‍वप्‍न सजाएँ (गीत संग्रह)(2016) प्रकाशक- अनुष्‍टुप् प्रकाशन, जयपुर 6- जब से मन की नाव चली (नवगीत संग्रह) (2016) (आ)- प्रमुख संकलन- 1- साहित्‍यकार-5 (5 कवियों की रचनाओं को लेकर प्रकाशित काव्‍य संग्रह के पाँच साहित्‍यकारों में सम्मिलित) प्रकाशक- निरुपमा प्रकाशन, मेरठ (2012)  2- कुण्‍डलिया कानन (कुण्‍डलिया संग्रह) सम्‍पादक- त्रिलोक सिंह ठकुरैला, आबू (2013) 3- गीतिका है मनोरम सभी के लिए (गीतिका/मुक्‍तक संग्रह)(फेसबुक समूह 'मुक्‍तक लोक') सम्‍पादक- प्रो. विश्‍वम्‍भर शुक्‍ल, अरुण अर्णव खरे एवं कांति शुक्‍ला, लखनऊ 4. तन दोहा मन मुक्तिका (दोहा मुक्‍तक संकलन)(2018) सम्‍पादक- प्रो. विश्‍वम्‍भर शुक्‍ल, संस्‍थापक अध्‍यक्ष 'मुक्‍तक लोक एवं डाॅ.गोपाल कृष्‍ण भट्ट 'आकुल'(स्‍वयं), प्रकाशक- अनुराधा प्रकाशन, नई दिल्‍ली 5. प्‍यारी बेटियाँ (गीत संग्रह) (2018) प्रकाशक- साहित्‍यपीडिया, नई दिल्‍ली।(इ)- दृष्टिकोण त्रैमासिक हिन्‍दी पत्रिका का सम्‍पादन, </p> <p class="MsoNormal" style="margin-top:0cm;margin-right:0cm;margin-bottom:0cm; margin-left:36.0pt;margin-bottom:.0001pt;text-align:justify;line-height:normal">संकलनों में (काव्‍य) - शब्‍द प्रवाह, काव्‍य सरोवर, सरस्‍वती सुमन, राष्‍ट्र नमन, मधुमती आदि ।  </p> <p class="MsoNormal" style="margin-top:0cm;margin-right:0cm;margin-bottom:0cm; margin-left:36.0pt;margin-bottom:.0001pt;text-align:justify;line-height:normal">सम्‍पादन- (10 पुस्‍तकें)- 1- कचरे का ड्रम(व्‍यंग्‍य काव्‍य) लेखक- वि‍जेन्‍द्र जैन; 2-माटी की पुकार (देशभक्‍ति‍ काव्‍य) लेखक-बृजेन्‍द्र सिंह झाला पुखराज; 3-तलाश (काव्‍य) लेखक- लेखराज ‘राज’; 4- जनवाद का प्रहरी (क्रांति‍कारी काव्‍य) लेखक- रेखानन्‍द बरोड़; 5- सच तो है (काव्‍य) लेखक- मदन राठौड़; 6- सोच ले तू कि‍धर जा रहा है (उर्दू हि‍न्‍दी ग़ज़ल संग्रह) लेखक- रघुनाथ मि‍श्र; 7- मोती (काव्‍य) लेखक- नरेन्‍द्र कुमार चक्रवर्ती ‘मोती’; 8- जन जन नाद (हाड़ौती के जनवादी कवि‍यों की रचनायें) प्रकाशक- जनवादी लेखक संघ, कोटा; 9- अनमोल वि‍चार (आध्‍यात्‍म) लेखक- सीता राम डाँगी 10- भ्रमर उत्‍सव (काव्‍य संग्रह) कृतिकार- 101 वर्षीय डा0 भँवर लाल तिवारी 11- सदावसन्‍तम् हृदयारविंदे (गीता पर भाष्‍य), लेखक-जितेंद्र सिंह, कोटा 12. मोतें संत अधिक कर लेखा, (रामचरित मानस पर भाष्‍य), जितेंद्र सिंह, कोटा भ्रमर2001 से 2007 तक फ्रेण्‍ड्स हेल्‍पलाइन, कोटा की मैत्री सेतु मासि‍क पत्रि‍का ‘कृतज्ञ यज्ञ संकल्‍प’ के प्रधान सम्‍पादक के रूप में कार्य, 2018 से त्रैमासिक पत्रिका दृष्टिकोण का सम्‍पादन । </p> <p class="MsoNormal" style="margin-top:0cm;margin-right:0cm;margin-bottom:0cm; margin-left:36.0pt;margin-bottom:.0001pt;text-align:justify;line-height:normal">सम्‍मान एवं उपाधि‍- (1) सन् 2000 में जि‍ला सूचना केन्‍द्र, कोटा द्वारा ‘हि‍न्‍दी दि‍वस’ पर नारा (स्‍लोगन) प्रति‍योगि‍ता में जि‍ले में प्रथम (2) 2011 में शब्‍द प्रवाह साहि‍त्‍यि‍क मंच, उज्‍जैन (म0प्र0) द्वारा पुस्‍तक ‘जीवन की गूँज’ अखि‍ल भारतीय साहि‍त्‍य सम्‍मान 2011 से पुरस्‍कृत और ‘शब्‍द श्री’ की मानद उपाधि (27 मार्च 2011)‍ (3) पं0 बृज बहादुर पाण्‍डेय स्‍मृति‍ सम्‍मान, 2011 में ही बहराइच (उ0प्र0) में (1 जून 2011) । (4) अखि‍ल भारतीय साहि‍त्‍य संगम, उदयपुर द्वारा अखि‍ल भारतीय साहि‍त्‍य सम्‍मान 2011 के लि‍ए ‘काव्‍य केसरी’ मानद सम्‍मानोपाधि‍ (5) साहि‍त्‍यि‍क सांस्‍कृति‍क कला संगम अकादमी पि‍रयावाँ  (प्रतापगढ़) यू0पी0 द्वारा वि‍वेकानन्‍द सम्‍मान 30 अक्‍टूबर 2011 (6) भारतीय वाड्मय पीठ कोलकाता द्वारा कवि‍ गुरु रवीन्‍द्रनाथ ठाकुर सारस्‍वत साहि‍त्‍य सम्‍मान 30 अक्‍टूबर 2011 को ही परि‍यावाँ में (7) राष्‍ट्रवीर महाराजा सुहेल ट्रस्‍ट, सि‍होरा, जबलपुर (म0प्र0) द्वारा ‘साहि‍त्‍य श्री’ सम्‍मान-2011 (8) सरि‍ता साहि‍त्‍य लोक कला समि‍ति सहनि‍वाँ, सुल्‍तानपुर द्वारा ‘साहि‍त्‍य मार्तण्‍ड’ गौसेसिंहपुर उ0प्र0 में (9) वि‍क्रमशि‍ला वि‍द्यापीठ, भागलपुर (बि‍हार) के 16 वें अधि‍वेशन में ‘साहि‍त्‍य शि‍रोमणि‍’ मानद उपाधि‍ उज्‍जैन (म0प्र0) में 13 दि‍सम्‍बर 2011 को (10) श्रीमती चंद्रकांता प्रकाशन झाँसी (उ0प्र0) द्वारा साहित्यि वा‍रिधि डा0 रामचरण हयारण मित्रजी की 108 वी जयंती समारोह में मित्र सम्‍मान (11) वि‍क्रमशि‍ला वि‍द्यापीठ, भागलपुर (बि‍हार) के 17 वें अधि‍वेशन में ‘विद्या वाचस्‍पति’ उपाधि‍, उज्‍जैन (म0प्र0) में 14 दि‍सम्‍बर 2012।  (12)   वि‍क्रमशि‍ला वि‍द्यापीठ, भागलपुर (बि‍हार) के 18 वें अधि‍वेशन में ‘भारतीय भाषा रत्‍न’ उपाधि‍, उज्‍जैन (म0प्र0) में 14 दि‍सम्‍बर 2013, अखिल हिंदी साहित्‍य सभा (अहिसास), नासिक द्वारा 2016 में विद्योत्‍तमा सम्‍मान/पु्‍रस्‍कार, मुक्‍तक लोक द्वारा 'छंद श्री सम्‍मान', 2017।</p> <p style="margin-top:0.4em;margin-bottom:0.5em;">2- नवगीत की पाठशाला में मेरे नवगीत</p>

1- कब गर्मी की रुत जाए  2- जब से मन की नाव चली 3- उत्‍सव गीत 4- लाएगा उपहार साल या 5- मेरे देश में हर दिन त्‍योहार  6- फि‍र हम एक हुए  7- पानी पानी पानी 8- ये शहर 9- समय का पहिया चलता जाये 10-  नवल बधाई (नीम पर) 11- डाली चम्‍पा की 12- आया फि‍र नववर्ष। Edit

3- मेरे ब्‍लॉग पर नवगीत ढूँढ़ सकते हैं- http:// saannidhya.blogspot.com

4- स्‍थायी पता- ‘सान्‍नि‍ध्‍य’, 817, महावीर नगर-2, कोटा (राजस्‍थान)-324005,

5-  दूरभाष- 0744-2424818 मोबाइल-     9462182817,

6- ईमेल- aakulgkb@gmail.com, gkbhatt55@yahoo.co.in

7- ब्‍लॉग्‍स - http://saannidhya.blogspot.com, http://saannidhyasetu.blogspot.com